Hindi All India World

Hindi All India World Best Information

कम खर्च में शादी कैसे करें? खर्च मैनेज करने के लिए बचत टिप्स

कम खर्च में शादी कैसे करें? शादी के खर्च मैनेज करने के लिए Kya kar? kam kharch me shadi kaise kare? खर्च मैनेज करने के लिए बजट बचत kaise kare? शादी (Sadi) में कितना खर्च आता है? वेडिंग बजट सेविंग (Wedding Budget Savings) टिप्स शादी के दौरान दिखाएँ अपनी बचत Shadi me kaise kare? । शादी के दौरान दिखाएँ अपनी स्मार्टनेस Bachat, खर्च मैनेज करने के लिए बचत टिप्स।

शादी को यादगार बनाना (Shadi Yadgar)

हर कोई अपनी शादी का सपना (Sadi ka Sapna) देखता है और अपनी शादी को यादगार बनाना चाहता है। इसके लिए हर संभव प्रयास करते हैं। उस दिन दूल्हा-दुल्हन खूबसूरत दिखने और बेहतरीन काम करने की चाह में कई बार अपनी शादी का बजट (Sadi Ka Bajat) इतना बढ़ा देते हैं कि उन्हें बाद में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

ऐसे में इस समय आपको होशियारी दिखाने और ऐसी चीजों को काटने की (Bachat Karne Ki) जरूरत है जिससे किसी को दुख न पहुँचे। हम आपको कुछ ऐसे स्मार्ट तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनकी मदद से आप अपनी शादी के बजट (Shadi Me Bachat) को सीमित कर पाएंगे।

सही जगह का चुनाव करना (Sadi Ke Liye Jagah)

अगर आप वाकई अपनी Shadi जैसा बड़ा फंक्शन बजट में करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको एक Sahi Jagah का चुनाव करना होगा। ऐसा इसलिए है क्योंकि कुछ लोग मेहमानों की संख्या को ध्यान में नहीं रखते हुए सबसे बड़े बगीचे में शादी करने का फैसला करते हैं।

kam kharch me shadi kaise kare
kam kharch me shadi kaise kare

जिनमें से आधे चक्कर भी नहीं लगाते हैं। वह अक्सर यह भूल जाते हैं कि उनकी Shadi में ज्यादा लोग शामिल नहीं हो रहे हैं जिसके लिए उन्होंने इतना बड़ा स्पेस बुक किया है, जिसके चलते उन्हें उस जगह की दोगुनी कीमत चुकानी पड़ती है,

जिसकी जरूरत नहीं थी। इतना ही नहीं, शहर के भीतर एक उत्तम दर्जे का Hotels चुनने के बजाय, बाहरी इलाके में ऐसी जगह चुनें, जिसमें बुनियादी सुविधाएँ हों, जो सुंदर होने के साथ-साथ बजट (Bajat) भी हो।

शादी का कार्ड ट्रेंडी क्यों? (Shadi Card)

शादी को यादगार (Shadi Yadgar) बनाने के लिए आजकल फैशनेबल कार्ड चलन में हैं, जिन पर लोगों को पता ही नहीं चलता कि वे कितना पैसा खर्च करते हैं। हालांकि, ऐसे लोग अक्सर यह भूल जाते हैं कि शादी को सुपर स्पेशल बनाने के लिए,

शादी का कार्ड (Shadi Ke Card) केवल लोगों को जागरूक करने के लिए होता है, जबकि कागज के दो पन्ने आपके Life के सबसे खास दिन को और भी खास बनाने के लिए रोल नहीं करते हैं। है।

बोझ नहीं आभूषण होना चाहिए (Basrr Shadi Me)

लोग शादी में सोना या आर्टिफिशियल डिजाइनर ज्वैलरी (Artificial Designer Jewelery) खरीदते हैं। दूसरी ओर, शादियों के लिए आर्टिफिशियल डिजाइनर ज्वैलरी हायर करना एक उभरता हुआ चलन है। किराए के आभूषण न केवल दुल्हन को डिजाइनर आभूषण (Designer Jewelery) पहनने की अनुमति देते हैं।

बल्कि वह ऐसी चीजें चुन सकती हैं जो उनके आउटफिट (Outfit) से पूरी तरह मेल खाती हों। इतना ही नहीं आप ज्वैलरी किराए (Jewelery Rent) पर लेकर लाखों के कर्ज से भी आसानी से बच सकते हैं।

आउटफिट भी लाइन में (Outfit Line)

शादी के सबसे बड़े खर्चों में एक ब्राइडल लहंगा (Bridal Lehenga) भी है, जिस पर लोग 50 हजार से लेकर लाख रुपये तक खर्च करने से नहीं हिचकिचाते। हालांकि, ऐसे लोग यह भूल जाते हैं कि अब ज्यादातर लोग शादी के कपड़े (Wedding Dresses) किराए पर लेने में आगे आ रहे हैं।

ऐसा करने से उन्हें न सिर्फ कम बजट (Kam Bajat) में अच्छा आउटफिट मिल जाता है बल्कि वह अपने मनचाहे लुक को एक्सेसराइज (Accessorize) करने में भी पीछे नहीं रहती हैं।

यह भी पढ़ें- खूबसूरत अभिनेत्री अदिति राव हैदरी (Aditi Rao Hydari) फिटनेस मंत्र जानिए